दीपावली पर केंद्र सरकार का तोहफा : सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये कम

दीपावली पर केंद्र सरकार का तोहफा : सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये कम
0 0
शेयर करें !
Read Time:3 Minute, 19 Second

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने दीपावली के एक दिन पहले आम आदमी को बड़ी राहत दी है. सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये कम कर दी है. ये दरें गुरुवार को दीपावली के दिन से लागू हो जाएंगी. गौरतलब है कि दिल्ली में ही पेट्रोल की कीमतें 110 रुपये के करीब पहुंच गई हैं. जबकि डीजल भी 99 रुपये प्रति लीटर हो गया है. पेट्रोल-डीजल के कारण खाने पीने की सभी वस्तुएं महंगी हो गई हैं. सरकार ने पेट्रोल औऱ डीजल (Petrol and Diesel) पर एक्साइज ड्यूटी (Excise Duty ) में ये कटौती दीपावली के एक दिन पहले की है. इससे कल सुबह से पेट्रोल 5 रुपये औऱ डीजल 10 रुपये सस्ता हो जाएगा. इसे किसानों के लिए भी बड़ी राहत माना जा रहा है, ्कयोंकि आने वाली रबी फसल के लिए उन्हें कम दामों पर डीजल मिल सकेगा. केंद्र सरकार ने राज्यों से भी पेट्रोल औऱ डीजल पर वैट घटाने को कहा है, ताकि आम आदमी को औऱ ज्यादा राहत दी जा सके।आर्थिक विश्लेषकों का कहना है कि पेट्रोल औऱ डीजल के रिकॉर्ड दामों का अर्थव्यवस्था पर असर पड़ना स्वाभाविक था. त्योहारों के पहले खाने-पीने, सब्जियां बहुत महंगी हो गई हैं. वहीं खाद का संकट झेल रहे किसानों के लिए भी डीजल की 100 रुपये के करीब पहुंच गई कीमत बड़ी परेशानी का सबब था. हालिया विधानसभा उपचुनाव में कुछ राज्यों में बीजेपी के खराब प्रदर्शन को भी महंगाई से जोड़कर देखा जा रहा है. 
हालांकि दुनिया भर में अभी कच्चे तेल के दामों में तेज बढ़ोतरी हो रही है. तेल कंपनियां इसी के हिसाब से पेट्रोल औऱ डीजल के दामों मे बढ़ोतरी कर रही हैं. अक्टूबर में तो लगभग हर दिन ही पेट्रोल औऱ डीजल के दाम बढ़े हैं. अगर इस साल की बात करें तो पेट्रोल 25 रुपये के करीब और डीजल 20 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो गया है. राजस्थान के श्रीगंगानगर और कुछ अन्य इलाकों में तो पेट्रोल 121 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गया था.
पेट्रोलियम मंत्रालय और अन्य संबंधित मंत्रालयों और विभागों से लगातार इसको लेकर चर्चा कर रहा था. हालांकि सूत्रों का कहना है कि पेट्रोल औऱ डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने को लेकर अभी कोई सहमति नहीं बनी है. कोरोना महामारी से उबर रही केंद्र और राज्यों की आर्थिक स्थिति पर पहले ही काफी दबाव है.

About Post Author

Dalip Kashyap

Editor in chief : Dalip kashyap ,Contact number : 9927389098, , Email : [email protected]
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
शेयर करें !

Dalip Kashyap

Editor in chief : Dalip kashyap ,Contact number : 9927389098, , Email : [email protected]

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *